khudeddandikanthi

Joined May 2016

खुद च या हमरा पहाड़ की ऊँची डाँडी काँठीयूं की गैरी घटीयूं की आज भी यी हम थै धै छन लगाणी बोल्दी की बौड़ी आवा मेरो मीमा बौड़ी आवा मी थै अब हौर न खुदावा। सूणा ये पहाड़
Visit on Twitter

khudeddandikanthi’s Applets